Hindi Sexy Story – छोटी बहन की चुदाई देख बड़ी की चूत मचल गई

यह कहानी एक साल पुरानी है.. तब मैं बी ए के तीसरे साल में था और उस वक्त 20 साल का था। चूँकि मैं एक सीधा-सादा लड़का था। सेक्स के लिए हमेशा से ही मैं लड़की के बारे में सोचता रहता था। कभी-कभी सोचता था कि मुझे एक प्ले बॉय भी बन जाना चाहिए। Hindi sexy story

मैं एग्जाम देने एक दूर के रिश्तेदार के यहाँ से दे रहा था। मैंने पहली बार वहाँ पर एक लड़की को देखा। उसका नाम रूबी(बदला हुआ नाम) था। वो 19 साल की थी.. थोड़ी मोटी थी। मैंने जब उसे देखा तो वो देखने में अच्छी चोदने लायक माल लगी।

मैं यहाँ एक बात बता दूँ कि वो भी कानपुर से ही थी। इस वजह से वो मुझसे थोड़ा ज्यादा घुल-मिल गई और मुझसे अच्छे से बातें भी करने लगी थी। धीरे-धीरे हम दोनों में अच्छी दोस्ती हो गई।

एक दिन बातों ही बातों में उसने बताया कि उसका कोई बॉयफ्रेंड नहीं है। तब मैंने उससे प्यार वाली दोस्ती करने को कहा तो उसने कहा कि सोच कर बताऊँगी।

मैंने कहा- ठीक है लेकिन थोड़ा जल्दी बताना।

वो उस वक्त वहाँ से चली गई।

Mastram Sexy Story चूत से चुकाया कर्ज़

उसकी एक ताई की लड़की वहीं रहती थी, उसका नाम रीना था। रीना रूबी से बड़ी थी, मेरी उससे भी अच्छी दोस्ती थी लेकिन मुझे उससे सेक्स के बारे में कभी ख्याल नहीं आया।
रूबी ने रीना से मेरे बारे में सब कुछ पूछा तो उसने बता दिया। ये बात मुझे रीना ने बता दी।

इसके बाद रूबी ने भी मुझसे कह दिया- मुझे तुम अच्छे लगते हो और मैं तुमसे प्यार भी करती हूँ।

मैंने झट से उसे अपने सीने से लगा लिया और उसे धीरे-धीरे किस करने लगा। लेकिन दिन होने की वजह से हम दोनों कुछ ज्यादा न कर सके।

हम दोनों ने रात को उसके ही घर पर मिलने का सोचा लेकिन एक दिक्कत थी उसकी मम्मी भी वहीं थीं।

तब मैंने रीना का सहारा लिया, उसको मैंने कहा- तुम आज उसके घर पर सो जाओ।

तो उसने कहा- ठीक है।

जब रूबी की मम्मी ऊपर सोने चली गईं। तब रूबी ने मुझे रात में काल करके घर पर आने को कहा.. उसने बताया कि रीना भी सो चुकी है।

अब हमारी कहानी शुरू हुई.. हम दोनों अन्दर कमरे में आ गए बिस्तर पर आने लगे। मैंने उसे अपनी  गोद में उठाया तो वो मेरी गांड में उंगली करके मुझे छेड़ने लगी।

मैंने कहा- रुको बेड पर तो पहुँचने दो.. फिर तुम्हें बताता हूँ।

Hindi Chudai Story  दीदी के कारनामे

मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और खुद उसके ऊपर लेट कर उसके होंठों पर किस करने लगा। किस क्या.. मैं तो उसके ऊपर बिल्कुल टूट पड़ा.. एकदम कुत्ते की तरह उसे भंभोड़ने लगा।

उसने कहा- आराम से करो न!

उसके भी पैर चलने लगे। फिर मैंने धीरे-धीरे उसके कपड़े उतारने चालू किए.. पहले उसका टॉप ऊपर किया और उसके पेट पर किस करने लगा.. अपनी जीभ चलाने लगा।

वो आहें भरने लगी- आह आह..

वो कहने लगी- ओह.. गुल्लू ऐसे ही आह आह.. और जोर से करो.. आह आ हाय.. मजा रहा है।

मैं अपने हाथों को उसकी मोटी-मोटी टांगों पर चलाने लगा.. जिससे वो और उछलने लगी। फिर मैंने उसके टॉप को उतार दिया और उसके ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबाने लगा।

बहुत मजा आ रहा था।

साली मोटी होने की वजह से बहुत मजा दे रही थी। मैं पागलों की तरह उसके चूचों को दबाए जा रहा था। फिर मैं अपने हाथों को उसकी पैंटी में डाल कर उसकी चूत को सहलाने लगा। उसकी चूत काफी फूली हुई थी.. जिसे सहलाने में बहुत मजा आ रहा था।

अब मेरा लण्ड पेंट के अन्दर फटा जा रहा था। फिर मैंने उसके बाकी कपड़े निकालने शुरू किए। पहले उसकी ब्रा उतारी और उसके मम्मों को मुँह में लेकर चूसने लगा।

उसके मम्मे एकदम रुई के जैसे थे। मैं अपने मुँह को धीरे-धीरे नीचे करता गया.. अपनी जीभ को उसके पेट पर चलाते हुए नीचे उसकी कमर पर आ पहुंचा। उसकी पैंटी को भी दांतों से खीच कर निकाल दिया। अब वो बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा।

चुत पर जीभ लगते ही वो एकदम से उछल गई और आहें भरने लगी ‘आह आह.. नहीं आह.. ओह.. गुल्लू आह ऑह.. इस्स आह..’

Ghar me chudai Hindi sexy story  खड़ा लंड को भाभी के चूत पे रगड़ा

मैंने उससे पूछा- कभी पहले लंड लिया है?

उसने कहा- नहीं..

मैंने कहा- तुम्हें थोड़ा दर्द सहना पड़ेगा।

बोली- सब झेल लूँगी।

मैं उसके होंठों पर किस करने लगा और अब वो इतनी गर्म हो चुकी थी कि मेरे होंठों को काटने लगी, उसने कहा- गुल्लू अब बर्दाश्त नहीं होता है, जल्दी से कुछ करो।
मैंने कहा- रुको मेरी जान.. पहले तुम्हें थोड़ा और गर्म कर दूँ.. जिससे तुम लंड के दर्द को सह सको।

फिर मैं 69 की पोजीशन में आया.. जिससे मेरा लौड़ा चिकना होकर उसकी बुर में आराम से धीरे-धीरे अन्दर जाने लगे।

छोटी ही उम्र में पड़ोसन की लौंडिया को चोदने की वजह से मेरे लंड का टांका टूटा हुआ था। उस वक्त वो लौंडिया भी फूल की कली सी थी।

कुछ देर 69 में लंड चुत की चुसाई के बाद मैंने उसे सीधा लिटा कर फिर से उसकी अनचुदी चूत को बुरी तरह से चूसने लगा। वो बुरी तरह से आहें भरते हुए उछलने लगी ‘आह हय इस्स आह..’

उसी वक्त वो इठते हुए झड़ गई.. मैं उसकी कच्ची चूत का पानी मजे से पीने लगा। फिर मैं उसके होंठों को किस करने लगा.. जिससे उसे भी अपनी चूत का स्वाद मिल गया।

Posted from – https://freehindisexstories.net/hindi-sexy-story-bahen-ki-chudai/